आरोग्य सेतु ऐप से ayushman bharat health id card कैसे बनाये

जब से कोरोनावायरस आया है।तब से लोगों का जीना दुश्वार हो गया है। तब से हर व्यक्ति परेशान है, क्योंकि इस परेशानी का कारण है उसका सोशल distancing। जो एक समस्या का सबसे बड़ा कारण है ।लेकिन ध्यान देने योग्य वाली बातें  यह है कि इस वायरस ने लोगों को यह सिखाया की भेदभाव क्या होता है ?और साथ ही साथ सामाजिक दूरी का पालन करने से हमें क्या लाभ होता है ?लेकिन हम भारतीयों की एक आदत है कि जो भी प्रोटोकोल होता है, उसका उल्लंघन करने के लिए हम जी जान से जुट जाते हैं । क्योंकि हमारे अंदर वो कार्य क्षमता नहीं होती है। जिसका निर्वाह कर सकें। लेकिन इसी के मद्देनजर भारत सरकार ने आयुष्मान bharat योजना के तहत आयुष्मान भारत health id बनाने की पहल की है। इस योजना का प्रारंभ  पहले सीमित था। हालांकि बाद में इसका विस्तार पूरे भारत में कर दिया गया। आयुष्मान भारत health id को अन्य नामों से bhi  जाना जाता है ,जैसे इस स्कीम का नाम पीएम मोदी health cardभी है। पीएम मोदी हेल्थ कार्ड इसलिए रखा गया। क्योंकि इस योजना को भारतीय वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने launch किया। इन्हीं के नाम पर पीएम मोदी हेल्थ कार्ड रखा गया। अब आपके मन में प्रश्न उठ रहा होगा कि आयुष्मान bharat health id कार्ड क्या है ?और इस हेल्थ id की आवश्यकता क्यों पड़ी? और साथ ही साथ ही schem के लाभ क्या है? आदि जानकारी आपको सविस्तार से इस article में बताई जाएगी। बस आप article के किसी भी पार्ट को  skip  मत करना। स्किप करेंगे तब आपको हेल्थ आईडी कार्ड समझ में नहीं आएगा कि इसको बनाने का process क्या है? तो आइए चलते हैं सर्वप्रथम जानते हैं कि आयुष्मान भारत health id card क्या है?

आयुष्मान भारत health id card क्या है ?

आयुष्मान भारत का अर्थ है दीर्घायु भारत अर्थात एक ऐसा भारत जहां हर व्यक्ति स्वस्थ हो। जिसकी उम्र लंबी हो। आयुष्मान भारत health id कार्ड एक प्रकार का वन स्टॉप solution है अर्थात किसी भी व्यक्ति को जीवन काल से लेकर ओल्ड एज तक जितनी भी बीमारियां हुई रहती हैं जैसे कि बीपी, डायबिटीज और साथ ही साथ कैंसर और साइटिका और किडनी स्टोन आदि  बीमारियां health id में बकायदे से दर्ज रहती हैं। और साथ ही साथ किस बीमारी के लिए आपने कौन सी दवा खाई थी। और किस हॉस्पिटल ने यह दवा लिखी थी। आदि  जानकारी उसमें अंकित रहती हैं। क्योंकि हेल्थ आईडी कार्ड का उद्देश्य है कि आपको किसी भी हॉस्पिटल में जाना है उसके लिए आपको सिर्फ health id कार्ड ले जाना है। जो 14 अंकों वाला होगा बस यही हेल्थ आईडी कार्ड डॉक्टर को दिखाएंगे डॉक्टर स्कैन करके पास्ट, प्रेजेंट की सारी बीमारियां बता देगा और आपका उसी अनुसार इलाज किया जाएगा।आपको कोई भी अदर डॉक्यूमेंट नहीं ले जाने की आवश्यकता है। अब आप सोच ही रहेंगे कितना लाभदायक है, यह आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी कार्ड।

 

 

आयुष्मान bharat health id कार्ड की need क्या है ?

 

 

(1) इन्हें health id कार्ड की आवश्यकता इसलिए पड़ी क्योंकि पहले यह समस्या होती थी कि कोई भी मरीज किसी हॉस्पिटल में दवा लेने जाता था, तो यदि कोई वह अपना जांच से रिलेटेड डॉक्यूमेंटभूल जाता था ।तो उसका इलाज नहीं हो पाता था। डॉक्टर उसे देख नहीं पाते थे तो Ayushman bharat हेल्थ आईडी कार्ड एक तरह से किसी वरदान से कम नहीं है। जो व्यक्ति अल्जाइमर से रोगी पीड़ित हैं ,उन सब के लिए तो एक वरदान है।

 

 

(2) इस  health id kard ki  आवश्यकता इसलिए पड़ी क्योंकि भारत को प्रदूषण मुक्त करना था ।एक सर्वे के मुताबिक जांच में उपयोग होने वाले कागज जो बनते हैं उसमें तकरीबन हर साल 4000000 वृक्षों को काटा जाता है ।लेकिन आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी कार्ड बनने के परिणाम स्वरूप वृक्षों का कटाव कम होगा क्योंकि जांच डॉक्यूमेंट पेपरलेस हो जाएगा ।इसके परिणाम स्वरूप ऑक्सीजन की मात्रा में बढ़ोतरी होगी और जीवन स्तर भी सुधरेगा।

 

 

(3) इस health id की आवश्यकता इसलिए पड़ी। क्योंकि भारत सरकार के पास जो गंभीर बीमारी की डाटा रहेगी जैसे कि एचआईवी और साथ ही साथ ट्यूमर आदि बीमारियों के data को आसानी से कलेक्ट किया जा सकता है ।जिसके परिणाम स्वरूप भारत सरकार को एकजुट और ऑथेंटिक डाटा मिलेगा कि यह व्यक्ति इस बीमारी से पीड़ित है और इसका इलाज इस  हॉस्पिटल में हो रहा है ।लेकिन ध्यान देने योग्य वाली बात यह है कि यह डाटा मिस यूज न हो  क्योंकि  इस डेटा की भनक किसी मल्टीनेशनल कंपनियां को लग जाती है ।इस डेटा का दुरुपयोग करके वाह मेडिसिन में अपना एकाधिकार हासिल कर सकता है ,किसी विशेष बीमारी के लिए।

 

 

(4) इस health id  की आवश्यकता  इसलिए पड़ेगी क्योंकि इससे घर बैठे टेलीमेडिसिन के माध्यम से इलाज करवाया जा सकता है ।इसके लिए उस डॉक्टर को अपने हेल्थ आईडी कार्ड का बारकोड को सेंड कर देना है। डॉक्टर बार कोड को स्कैन करके यह जान लेगा कि इस फला -फला व्यक्ति को क्या समस्या है ?और इसकी समस्या के लिए कौन सी दवा दी गई है ।और मुझे इसके उपचार के लिए कौन सी दवा उपयोग करनी चाहिए जिससे वह स्वस्थ हो सके।

 

 

 

Aayushmaan bhart हेल्थ id कार्ड का पर्पज क्या है ?

 

 

(1) आयुष्मान भारत health id  का पर्पज यह  है कि डिजिटल इंडिया के तहत सभी कार्यों को जैसे ऑफिस का कार्य ,पार्लियामेंट का कार्य और सरकारी हॉस्पिटल का कार्य सब पेपरलेस हो अर्थात किसी भी जांच के लिए सॉफ्ट कॉपी का यूज होगा न की हार्ड कॉपी का।

 

 

(2) हेल्थ आईडी कार्ड का सबसे बड़ा  पर्पज यह है कि भारत सरकार द्वारा सभी बीमारियों को कलेक्ट करने के लिए जो अलग से पैसे खर्च किए जाते हैं। उसको आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी में इंक्लूड करके डाटा को कलेक्ट किया जाए। जिससे पैसे की बचत हो और इस पैसे को हेल्थ और एजुकेशन सेक्टर में इन्वेस्टमेंट किया जा सके ।जिससे इंफ्रास्ट्रक्चर और स्ट्रांग हो सके।

 

 

 

(3) इस  health id का  सबसे बड़ा उद्देश्य यह है कि जितनी भी गंभीर बीमारी है और कई ऐसे लोग हैं जो अपनी गंभीर बीमारी को छुपाते हैं। इस आईडी के माध्यम से वह ऐसा नहीं कर पाएंगे ।जिसके परिणाम स्वरूप भारत सरकार आसानी से उनकी हेल्थ रिलेटेड  से जानकारी को ट्रैक कर सकती है।

 

 

(4) इस योजना का सबसे बड़ा पर्पज यह है कि भारत सरकार यह जान पाएगी कि हमारा प्रशासन तंत्र कितना स्ट्रांग है ।जो यह दावा करती है कि हम भारत के नागरिकों के लिए 24 घंटा खड़ा रहते हैं ।लेकिन यह हेल्थ आईडी के बनने के परिणाम स्वरूप यह भी पता चल जाएगा कि ब्यूरोक्रेसी के अंदर कितनी कैपेसिटी है। जो आम नागरिकों को हॉस्पिटल तक आम पहुंचकर आ सके।

 

 

 

(1) आयुष्मान भारत health id card कैसे बनाये ?

 

 

यदि आप आयुष्मान भारत health id कार्ड को घर बैठे बनाना चाहते हैं ।तब इसके लिए आपको यह ध्यान रखना है कि आपके पास नंबर लिंक आधार कार्ड होना चाहिए। और साथ ही साथ आपको थोड़ा नॉलेज कंप्यूटर की होनी चाहिए। तब आप आसानी से आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी कार्ड बना सकते हैं।

 

(1) आरोग्य सेतु ऐप से आयुष्मान भारत health id card बनाने का process क्या है ?

 

  • (a) सबसे पहले यदि आपका एंड्राइड फोन लॉक है ।उसे अनलॉक करिए ।उसके बाद अपने एंड्रॉयड फोन में इंटरनेट डाटा को ऑन करिए ।इंटरनेट डाटा को ऑन करने के बाद आप अपने गूगल प्ले स्टोर को ओपन करिए।

 

 

  • (b) गूगल प्ले स्टोर को ओपन करने के बाद उसके सर्च बार में आपको टाइप करना है ,आरोग्य सेतु एप। अब आपको इस ऐप को डाउनलोड कर लेना है ।डाउनलोड करने के बाद आरोग्य सेतु ऐप को इंस्टाल लेना है ।इंस्टॉल कर लेने के बाद आपको लैंग्वेज को सेलेक्ट करना है ,जैसे कि इस ऐप में हिंदी, इंग्लिश, मराठी, तमिल, तेलुगू ,कन्नड़, बोडो,डोगरी, संथाली, मैथिली आदि भाषाएं रहेगी ।आप जिस भी भाषा में सहज है। आप उस भाषा को सेलेक्ट कर लीजिए। सिलेक्ट करने के बाद रजिस्टर के ऑप्शन पर क्लिक करना है। जैसे ही आप रजिस्टर के ऑप्शन पर क्लिक करेंगे। तब आपसे सभी परमिशन को एग्री करने के लिए कहा जाएगा। सभी परमिशन को  agree करने के बाद आपके डिवाइस से एशेज लिया जाएगा।

 

 

  • (c) डिवाइस acess एग्री कर दें। यदि आप एग्री करते हैं तब आपसे आपका मोबाइल नंबर मांगा जाएगा। मोबाइल नंबर को फिलअप कर दीजिए।फिलअप करने के बाद आपके मोबाइल फोन में एक ओटीपी आएगा। उस ओटीपी को वेरीफाई ओटीपी के ऑप्शन में फील अप कर दीजिए ।फिलअप करने के बाद रजिस्टर के बटन पर क्लिक करिए। उसके बाद आप आसानी से आरोग्य setu app में रजिस्टर हो गए हैं। लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि यदि आप पहले से आरोग्य सेतु ऐप में  रजिस्टर किए हैं तब उपर्युक्त बताई गई जानकारी को आप स्किप कर सकते हैं।

 

 

  • (d) उसके बाद आपको डेस्क बोर्ड के पर टैप करना है। जैसे डेस्क बोर्ड पर टैप करेंगे। वहां आपको आरोग्य सेतु में जितने फीचर है ।सभी दिखने लगेगा ।उन्ही फीचरों में आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी पर क्लिक करना है ।जैसे ही क्लिक करेंगे तब आपसे कहा जाएगा कि आप अपने आधार कार्ड को नेशनल हेल्थ अथॉरिटी से  जोड़िए ।जैसे ही आप आधार कार्ड को नेशनल हेल्थ अथॉरिटी से ऐड करेंगे ।तब आप कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करिये।जैसे ही कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करेंगे। आपकी मोबाइल फोन पर एक ओटीपी आएगा।वह ओटीपी उसी मोबाइल फोन पर आएगा जो मोबाइल फोन का नंबर आधार कार्ड से लिंक है ।अब उसके बाद आपको उस ओटीपी को वेरीफाई ओटीपी के ऑप्शन में फिल अप कर देना है ।फिल अप करने के बाद आपका हेल्थ आईडी सक्सेसफुल हो गया अर्थात आपका हेल्थ आईडी बन गया अब आप भारत सरकार के आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी के लाभार्थी बन गए हैं। अब आपको कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करना है ।

 

  • (e) जैसे ही आप कंटिन्यू के ऑप्शन पर क्लिक करते हैं। वैसे ही आप आयुष्मान भारत हेल्थ एड्रेस के पेज पर आ जाते हैं ।जहां पर आप से आपका मोबाइल नंबर और आपका नाम मांगा जाता है ।अब आपको आयुष्मान भारत हेल्थ ऐड्रेस के क्रिएट वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है ।जैसे क्रिएट वाले ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तब आपके सामने 14 अंकों वाला हेल्थ कार्ड बनकर तैयार हो जाएगा ।उसमें आपका नाम लिखा रहेगा और क्यूआर कोड ।यदि आप इस हेल्थ कार्ड को डाउनलोड करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए पीडीएफ लिंक पर क्लिक कर दीजिए ।जैसे ही आप पीडीएफ लिंक पर क्लिक करेंगे वैसे ही पीडीएफ डाउनलोड हो जाएगा। यदि आप आयुष्मान भारत हेल्थ id कार्ड को इमेज के रूप में रखना चाहते हैं। इसके लिए आप जेपीजी फॉर्मेट को सेलेक्ट करिए ।उसके बाद भारत हेल्थ कार्ड इमेज के रूप में आपके मोबाइल में आ जाएगा।

 

 

 

(2)नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का यूज करके आयुष्मान भारत health id कार्ड बनाने का प्रोसेस क्या है ?

 

  • (a) सर्वप्रथम आप अपने एंड्रॉयड फोन में इंटरनेट डाटा को ऑन करिए। इंटरनेट डाटा को ऑन करने के बाद अपने मोबाइल फोन में गूगल क्रोम ब्राउजर को ओपन करिए। गूगल क्रोम ब्राउजर ओपन करने के बाद से सर्च बार में टाइप करना है- ndhm.gov.in

 

  • (b) जब नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का पेज ओपन हो जाए। उसके बाद आपको क्रिएट योर आईडी के ऑप्शन पर क्लिक करना है। जब आप create योर id के ऑप्शन पर क्लिक करते हैं। तब आपके सामने एक नया इंटरफेस खुलेगा। क्रिएट आईडी नो आपको उस पर क्लिक करना है ।जैसे ही आप क्रिएट id know पर  क्लिक  करते हैं ।तब आपको अपना आधार कार्ड नंबर भरना है। उसके बाद सारे टर्म्स  एंड कंडीशन को एक्सेप्ट करके सबमिट के बटन पर क्लिक करिए। जैसे सबमिट के बटन पर क्लिक करते हैं वैसे ही आपसे मोबाइल नंबर ऐड करने के लिए कहा जाएगा ।जैसे  मोबाइल नंबर ऐड करते हैं सबमिट के बटन पर क्लिक करिए।

 

 

  • (c) मोबाइल नंबर को ऐड करने के बाद आपका नाम फोटो और साथ ही साथ आपका डेट ऑफ बर्थ मांगा जाएगा। आपको उसे सावधानी पूर्वक से भरना है। उसके बाद आपसे अपने हेल्थ रिकॉर्ड को ऐड करने के लिए कहा जाएगाम हेल्थ रिकॉर्ड को ऐड करने के लिए हेल्थ रिकॉर्ड के ऑप्शन पर क्लिक करना है। उसके बाद आपके सामने एक इंटरफ़ेस खुलेगा। उसमें आप अपने डॉक्यूमेंट जैसे कि अल्ट्रासाउंड एक्सरे और साथ ही साथ सीवीसी को लिंक कर सकते हैं। उसके बाद हॉस्पिटल नेम भी लिख सकते हैं।

 

 

 

आयुष्मान भारत health id कार्ड के बेनिफिट क्या है ?

 

 

(1) आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी का सबसे बड़ा बेनिफिट यह होगा कि इससे अनइंप्लॉयमेंट की समस्या दूर होगी अर्थात आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी में प्रयुक्त होने वाले हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर पर जब काम होगा ।उसके लिए वर्कर तो लगेंगे जो वर्कर लगेंगे ।इससे प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि होगी जिसके परिणाम स्वरूप कुछ सीमा तक अनइंप्लॉयमेंट की समस्या दूर होगी।

 

 

(2)इस  स्कीम का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे मरीज अवसाद ग्रस्त नहीं होंगे अर्थात पहले मरीजों को बड़ी चिंता यह रहती  थी  कि यदि मैं कोई  जांच डॉक्यूमेंट भूल गया तू मेरी जांच कैसे होगी आदि समस्या उनको सताती रहती है ।लेकिन हेल्थ आईडी कार्ड आने के बाद  उनको इन सब विषय में चिंता नहीं करना है। बस अपना 14 नंबर  वाला हेल्थ आईडी कार्ड को ले जाना है उनका जांच हो जाएगा।

 

 

(3) इस  health id kard ka  एक और बेनिफिट यह है कि इससे मृत्यु दर कम होगी अर्थात कोई व्यक्ति पहले सही से जांच ना हो पाने के कारण उसकी मृत्यु हो जाती थी ।लेकिन हेल्थ आईडी कार्ड बनने के परिणाम स्वरुप सरकार उनकी बीमारी को ट्रैक कर पाएगी ।और साथ ही साथ डॉक्टर समय-समय पर उनको एडवाइज दे सकेंगे कि उनको अपने हेल्थ में क्या और सुधार करना है? और उनका हेल्थ का स्तर कैसा है ?आदि जानकारी उनको घर बैठे मिल जाएगी।

 

 

(4) इस हेल्थ आईडी कार्ड का एक और बेनिफिट यह है कि लोगों की लाइफ स्टाइल में परिवर्तन आएगा अर्थात अब किसी भी डॉक्टरी में जाने के लिए उनको लाइन नहीं लगाना है वह टेलीमेडिसिन के माध्यम से भी वर्चुअल तरीके से भी अपनी हेल्थ का चेकअप करा सकते हैं।

 

 

(5) हेल्थ आईडी कार्ड का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि इससे भारत की फार्मेसी कंपनी में एकाएक ग्रोथ होगी। जिसके परिणाम स्वरूप भारत की जीडीपी में वृद्धि होगी और परचेसिंग पैरिटी पावर भी प्रभावित होगा।

 

 

 

आयुष्मान भारत health id का स्टेटस कैसे चेक करे ?

 

 

यदि आपने आयुष्मान भारत हेल्थ id कार्ड बनाया है और यह जानना चाहते हैं कि हेल्थ आईडी कार्ड का स्टेटस कैसा है ? आदि जानकारी बताता हूँ।

 

 

आयुष्मान भारत health id कार्ड का स्टेटस चेक करने का प्रोसेस क्या है ?

 

 

  • (a) सबसे पहले अपने इंटरनेट डाटा को ऑन करिये। इंटरनेट डाटा को  on  करने के बाद गूगल क्रोम ब्राउजर को ओपन करिए ।गूगल क्रोम ब्राउजर को ओपन करने के बाद उसके सर्च बार  में आपको टाइप करना है- ndhm.gov.in

 

  • (b) जैसे ही आप नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के होम पेज पर आ जाते हैं। होम पेज पर आने के बाद आपको बाय साइड थ्री डॉट लाइन वर्टिकल फॉर्म में दिखेगा आपको उस पर क्लिक करना है। क्लिक करने के बाद आपको लॉगिन का ऑप्शन दिखेगा आप लॉगिन हो जाइए। लेकिन लॉगिन होने के लिए आपको रजिस्टर मोबाइल नंबर और साथ ही साथ आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी कार्ड का 14 अंकों वाला नंबर डालना होगा उसके बाद आप लॉगइन करिए। जैसे आप लॉगिन होते हो  वैसे ही  आपका हेल्थ आईडी कार्ड का स्टेटस दिखने लगेगा?

 

 

 

 

 

Faq

 

 

 

(1) आयुष्मान भारत health id  कार्ड किसके द्वारा शुरू किया गया है?

 

 

आयुष्मान भारत health id  कार्ड केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया है।

 

 

(2) आयुष्मान भारत health आईडी कार्ड बनाते वक्त आने वाली प्रॉब्लम के लिए टोल फ्री नंबर क्या है?

 

 

यदि आप आयुष्मान भारत health आईडी कार्ड बना रहे हैं उस समय आपको कोई समस्या आती है तब आप टोल फ्री नंबर -1800111565 पर काल करके अपनी प्रॉब्लम का समाधान पा सकते है  ।

 

 

 

(3) आयुष्मान भारत health आईडी कार्ड किसके लिए है।

 

 

आयुष्मान भारत health id कार्ड भारत के नागरिकों के लिए है।

 

 

(4) आयुष्मान भारत health आईडी कार्ड की ऑफिशियल website क्या है?

 

 

आयुष्मान भारत health id कार्ड की ऑफिशियल वेबसाइट है- ndhm.gov.in

 

 

(5) आयुष्मान भारत health id कार्ड को कौन एक्सेस कर सकता है?

 

 

आयुष्मान भारत health id कार्ड को सिर्फ डॉक्टर लोग ही excess कर सकते हैं। क्योंकि इसकी अथॉरिटी सिर्फ रजिस्टर हेल्थ डिस्पेंसरी और क्लीनिक और साथ ही साथ सरकारी हॉस्पिटल के डॉक्टर के पास ही होगा।

 

 

 

निष्कर्ष :

 

 

आज मैंने आरोग्य सेतु एप से आयुष्मान भारत health आईडी कार्ड कैसे बनाएं से संबंधित आर्टीकल  में आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी कार्ड क्या है ?और साथ ही साथ इसकी आवश्यकता क्यों पड़ी ?और इसका पर्पज  क्या है ?और हेल्थ आईडी कार्ड बनाने का प्रोसेस क्या है? और हेल्थ आईडी कार्ड बनाने की परिणामस्वरूप इसका स्टेटस कैसे चेक करें ?और हेल्थ आईडी कार्ड की बेनिफिट क्या है?आदि जानकारी को इस आर्टीकल  में बताया है। आप इस आर्टिकल को अपने फ्रेंड को सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप और telegram पर शेयर करिए जिससे वो  भी इस आर्टकिल को पढ़कर इसका लाभ उठा सकें। और भविष्य में मुझे ऐसे और article  लाने के लिए motivation भी मिल सके।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.