GK/GSHistoryStudy Notes

सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी महत्‍वपूर्ण जानकारी

सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी महत्‍वपूर्ण जानकारी

हेल्लो दोस्तों आज हम आपको भारत की सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी महत्‍वपूर्ण जानकारी ( सिन्धु घाटी सभ्यता का परिचय ) लेकर आये हेl सिंधु घाटी सभ्यता हर तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहोत ही महत्वपूर्ण टॉपिक हैl भारत की सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़े प्रश्न अकसर  SSC, UPSC, IAS, BANKING EXAM, RAILWAY, POLICE, NDA/CDS और हर तरह की विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं में पूछे जाते हैl

(Sindhu Valley Culture General Knowledge)

भारत की सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी महत्‍वपूर्ण जानकारी

खोज, समयावधि एवं विस्तार 

  • बीसवीं सदी की शरुआत तक इतिहासवेत्ताओं की यह धारणा थी की वैदिक सभ्यता भारत की प्राचीनतम सभ्यता है l लेकिन बीसवीं सदी के तीसरे दशक में खोजे गए स्थलों से यह साबित हो गया की वैदिक सभ्यता से पूर्व भी भारत में एक अन्य सभ्यता विघमान थी l
  • इसे हड़प्पा सभ्यता या सिन्धु घाटी सभ्यता के नाम से जाना जाता है क्योंकि इसमे प्रथम अवशेष हड़प्पा नामक स्थान से प्राप्त हुए थे तथा आरम्भिक स्थलों में से अधिकांश सिंधु नदी के किनारे अवस्थित थे l
  • सिन्धु घाटी सभ्यता की विस्तार अवधि 2500-1750 ई. पू. थी l
  • सर्वप्रथम 1921 ई. में रायबहादुर दयराम साहिनी ने हड़प्पा नामक स्थान पर इसके अवशेष खोजे थे l
  • इस सभ्यता का विस्तार पंजाब, सिन्ध, बलूचिस्तान, गुजरात, राजस्थान, जम्मू और पश्चिमी उत्तर प्रदेश तक था l

नगर योजना 

  • स सभ्यता की महत्त्वपूर्ण विशेषता नगर योजना थी l
  • नगरो में सड़के व माकन विधिवत बनाये गये थे l माकन पक्की ईटो के बने होते थे तथा सड़के सीधी थी l
  • मोहनजोदड़ो में एक विशाल स्नानागार मिला है जो 11.88 मीटर लम्बा, 7.01 मीटर चौड़ा एवं 2.43 मीटर गहरा था l इस स्नानागार का प्रयोग आनुष्ठानिक स्नान के लिए होता था l

जरुर पढ़े: भारत की पंचवर्षीय योजना की जानकारी हिंदी में पढ़िए

आर्थिक जीवन  

  • सैन्धव निवासियों के जीवन का मुख्य उघम कृषि कर्म था l
  • यहाँ के प्रमुख खाघान्न गेहूँ तथा जौ थे l
  • नगरो में अनाज के भण्डारण के लिए अन्नागार बने होते थे l
  • कृषि के साथ – साथ पशुपालन का भी विकास हुआ था l
  • कृषि तथा पशुपालन के साथ – साथ उघोग एवं  व्यापार भी अर्थव्यवस्था के प्रमुख आधार थे l वस्त्र निर्माण इस काल का प्रमुख उघोग था l
  • सूती वस्त्रों के अवशेषों से ज्ञान होता है की यहाँ के निवासी कपास उगाना भी जानते थे l विश्व में सर्वप्रथम यहीं के निवासियों के कपास की खेती प्रारम्भ की थी l
  • इस सभ्यता के लोगों की मुहरें एवं वस्तुएँ पश्चिम एशिया तथा मिस्त्र में मी है, जो यह दिखाती हैं की उन देशों के साथ इनका व्यापारीक सम्बन्ध था l
  • यहाँ के निवासी वस्तु विनियमन व्दारा व्यापर किया करते थे l

शिल्प तथा उघोग – धन्धे 

  • कृषि तथा पशुपालन के अतिरिक्त यहाँ के निवासी शिल्पों तथा उघोग-धन्धे में भी रूचि लेते थे l
  • यहाँ के निवासी धातु निर्माण उघोग, आभूषण निर्माण उघोग, बर्तन निर्माण उघोग, हथियार – ओजरो निर्माण उघोग व परिवहन उघोग से परिचित थे l

जरुर पढ़े: भारतीय कर व्यवस्था की सामान्य जानकारी

सामाजिक जीवन 

  • सैन्धव निवासियों का सामाजिक जीवन सुखी तथा सुविधापूर्ण था व सामाजिक व्यवस्था का मुख्य आधार परिवार थाl
  • समाज व्यवसाय के आधार पर चार भागों में विभाजित था l विव्दान, योध्दा, व्यापारी था शिल्पकार और श्रमिक
  • सैन्धव निवासी आमोद – प्रमोद के प्रेमी थे l जुआ खेलना, शिकार करना, नाचना, गाना-बजाना आदि लोगों के आमोद – प्रमोद के साधन थेl पासा इस युग का प्रमुख खेल थाl

धार्मिक जीवन 

  • मातृ देवीके सम्प्रदाय का सैन्धव – संस्कृति में प्रमुख स्थान था l मातृ देवी की ही भाँँति देवता की उपासना में भी बलि का विधान था l
  • आहा पर पशुपतिनाथ, महादेव, लिंग, योनि, वृक्षों व पशुओं की पूजा की जाती थी l ये लोग भुत – प्रेत, अन्धविश्वास व जादू – टोना पर भी विश्वास करते थे l
  • बैल को पशुपतिनाथ का वाहन माना जाता था l फाख्ता एक पवित्र पक्षी माना जाता था l
  • ‘ स्वास्तिक ‘ चिह्र सम्भवत: हड़प्पा सभ्यता की दें है l

जरुर पढ़े: भारत की भौगोलिक सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में पढ़िए

लेखन कला 

  • दुर्भाग्यवश, अभी तक सिन्धु – सभ्यता की लिप को पढ़ा नहीं जा सका है l इसमे चित्र और अक्षर ( लगभग 400 अक्षर एवं 600 चित्र ) दोनों ही ज्ञात होते हैं l
  • यह लिपि प्रथम लाइन में दाएँ से बाएँ तथा व्दितीय लाइन में बाएँ से दाएँ लिखी गयी है l यह तरीक बाउस्ट्फिडन कहलाता है l

सभ्यता का अन्त

  • यह सभ्यता तकरीबन 1000 साल रही l
  • इसके अन्त के कारणों के बारे में इतिहासकार एकमत नहीं हैं और अलग – अलग मत दिये गये हैं जिसमें प्रमुख हैं –जलवायु परिवर्तन, नदियों के जलमार्ग में परिवर्तन, आर्यों का आक्रमण, बाढ़, सामाजिक ढाँचे में बिखराव, भूकम्प, आदि l
प्रतियोगि परीक्षाओं के लिए जरुरी अधियन सामग्रीः
  1. भारत के महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस और अंतर्राष्ट्रीय दिवस की सूचि पढ़िए
  2. पृथ्वी की आंतरिक संरचना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी
  3. भारत के प्रमुख शेयर बाजार के बारे में महत्वपूर्ण सामान्य जानकारी
  4. भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रकार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां
  5. भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध की सूचि
  6. Download Indian Art and Culture Pdf Book by Nitin Singhania
  7. Important Static GK PDF Notes for Bank Exams 2018
  8. भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध की सूचि
  9. Tricky Samanya Adhyayan Book Pdf Download Free
  10. भारतीय संविधान के भाग और अनुच्छेद की जानकारी

दोस्तों Daily Latest Paid eBook & Current Affairs, GK Notes, Couching Study Materials FREE Download करने के लिए हमेशा हमारी Website Daily Visit कीजिऐ और अपनी आने वाली Competitive Exams की तेयारी सरल तरीके से कीजिये। अपने दोस्तों को Whatsapp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को मुक्त में PAID PDF BOOK मिल पाए। धन्यवाद्।

Leave a Reply