GK/GSStudy Notes

भारत की पंचवर्षीय योजना की जानकारी हिंदी में पढ़िए

भारत की पंचवर्षीय योजना

हेल्लो दोस्तों आज हम आपके लिए भारत की पंचवर्षीय योजना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आये हेl भारत की पंचवर्षीय योजना हर तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहोत ही महत्वपूर्ण टॉपिक हैl भारत की पंचवर्षीय योजनासे जुड़े प्रश्न अकसर  SSC, UPSC, IAS, BANKING EXAM, RAILWAY, POLICE, NDA/CDS और हर तरह की विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं में पूछे जाते हैl

भारत की पंचवर्षीय योजना सम्बंधित जानकारी हिंदी में पढ़िए

भारत की पंचवर्षीय प्रमुख योजना सामान्य ज्ञान :

प्रथम पंचवर्षीय योजना (1951-1956)   

  • इस योजना के लक्ष्य थे : शरणार्थीयों का पुनर्वास, खाघान्नो के मामले में कम-से-कम सम्भव अवधि में आत्मनिर्भता प्राप्त करना और मुद्रास्फीति पर नियन्त्रण करना l इसके साथ – साथ इस योजना योजना में सर्वागीण विकास की प्रक्रीया आरम्भ की गयी, जिससे राष्ट्रिय आय के लगातार बढ़ने का आश्वासन दिया जा सके l इस योजना में कृषि को प्राथमिकता दी गयी l

व्दितीय पंचवर्षीय योजना (1956-1961) 

  • प्रो. पी. सी. महालनोबिस के र्मोडल पर आधारित इस योजना का लक्ष्य तिव्र ओधोगिकीकरण था l इसके लिए भरी तथा मूल उघोगों पर विशेष बल दिया गया l इन मूल महत्त्व के उघोगों अर्थात लौह एवं इस्पात, अलौह धातुओं, भारी  रसायन, भारी इंजीनियरिंग और मशीन – निर्माण उघोगों को बढ़ावा देने का दृढ़ निश्चय किया गया l

तीसरी पंचवर्षीय योजना (1961-1966)   

  • तीसरी योजना ने अपना लक्ष्य आत्मनिर्भर एवं स्वयं – स्फूर्ति अर्थव्यवस्था की स्थापना करना रखा l इस योजना ने कृषि को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की, परन्तु इसके साथ – साथ इसने बुनियादी उघोगों के विकास पर भी पर्याप्त बल दिया जो की तीव्र आर्थिक विकास के लिए अत्यंत आवश्यकता था l
  • तीन वार्षिक योजनाएँ (1966-67 से 1968-69)
  • वर्ष 1965 में भारत – पाकिस्तान युध्द से पैदा हुई स्थित्ति, दो साल तक लगातार भीषण सूखा पड़ने, मुद्रा का अवमूल्य होने, कीमतों में हुई वुध्दी तथा योजना उददेश्यों के लिए संसाधनों रूप देने में देरी हुई l इसलिए इसके स्थान पर चौथी योजना के प्रारूप को ध्यान में रखते हुए 1966 से 1969 तक तीन वार्षिक योजनाएँ बनायी गयी l इस अवधि को योजना अवकाश कहा गया है l

जरुर पढ़े: भारत की भौगोलिक सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में पढ़िए

चौथी पंचवर्षीय योजना (1969-1974) 

  • चौथी योजना के मूल उददेश्य थे –स्थिरता के साथ आथिक विकाश तथा आत्मनिर्भरता की अधिकाधिक प्राप्त l चौथी योजना में राष्ट्रिय आय की 5.5% वार्षिक ओसत वृध्दि दर प्राप्त करने का लक्ष्य रखा गया, बाद में इसमे सामाजिक न्याय के साथ विकास और गरीबी हटाओ जोड़ा गया l

पाँचवीं पंचवर्षीय योजना (1974-1978)   

  • इसमे दो मुख्य उददेश्यों अर्थात गरीबी की समाप्ति और आत्मनिर्भरता की प्राप्ति के लिए वृध्दि की उच्च दर को बढ़ावा देने के आलावा आय का बेहतर वितरण और देशीय बचत दर में महत्त्वपूर्ण वृध्दि करने की निति अपनायी गयी l मार्च, 1978 में जनता पार्टी की सरकार ने चार वर्षो के पश्चात् ही पाँचवीं योजना को समाप्त कर दिया l

छ्ठी पंचवर्षीय योजना (1980-1985) 

  • छ्ठी योजना दो बार तैयार की गयी l जनता पार्टी व्दारा अनवरत योजना बनायी गयी l छ्ठी योजना का मुख्य उददेश्य कृषि तथा सम्बध्द क्षेत्र में रोजगार का विस्तार करना, जन – उपभोग की वस्तुएँ तैयार करने वाले कुटीर एवं लघु उघोगों को बढ़ावा देना और न्यूनतम आवश्यकता कार्यक्रम व्दारा निम्नतम आय वर्गों की आय बढ़ाना था l परन्तु जब काँग्रेस सरकार नयी छ्ठी योजना(1980-85) तैयार की, तब विकास के नेहरू माॅडल को अपनाय गया, जिसका लक्ष्य एक विकासोन्मुख अरथव्यवस्था मे गरिबि कि समसय पर सिधा प्रहार करना था l

जरुर पढ़े :भारत के महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस और अंतर्राष्ट्रीय दिवस की सूचि पढ़िए

सातवीं पंचवर्षीय योजना (1985-1990)   

  • सातवीं योजना में खाघान्नों की वृध्दि, रोजगार के क्षेत्रों का विस्तार एवं उत्पादकता को बढ़ने वाली नीतियों एवं क्रार्यकमों पर बल देने का निश्चय किया गया l

आठवीं पंचवर्षीय योजना (1992-1997) 

  • केन्द्र में राजनीतिक अस्थिरता के कारण आठवीं योजना दो वर्ष देर से प्रारम्भ हुई l आठवीं योजना का विवरण उस समय स्वीकार किया गया, जब देश एक भारी आर्थिक संकट से गुजर रहा था l इसके मुख्य कारण थे –भुगतान संतुलन का संकट, बढ़ता हुआ ॠण भार, लगातार बढ़ता बजट – घाटा, बढती हुई मुद्रास्फीति और उघोग में प्रतिसार l नरसिम्हा राव सरकार ने आर्थिक सुधारों के साथ राजकोषीय सुधारों की भी प्रकिया जारी की, ताकि अर्थव्यवस्था को मूलभूत उददेश्य विभिन्न पहलुओं में मानव विकास करना था l

नौवीं पंचवर्षीय योजना (1997-2002) 

  • इसमें विकास का 15 वर्षीय परिप्रेक्ष्य शामिल कीया गया l नौवीं योजना का प्रमुख लक्ष्य वुध्दी के साथ सामजिक न्याय और समानता था l

दसवीं पंचवर्षीय योजना (2002-2007)

जरुर पढ़े : पृथ्वी की आंतरिक संरचना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

  • इस योजना में पहली बार राज्यों के साथ विचार – विमर्श कर राज्यवार विकास दर निर्धारिक की गयी l इसके साथ ही पहली बार आर्थिक लक्ष्यों के साथ – साथ सामाजिक लक्ष्यों पर भी निगरानी की व्यवस्था की गयी l

ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना (2007-2012)  

  • जीडीपी वृध्दि पर को 8% से बढ़ाकर 10% करना और इसे 12वीं योजना के दौरान 10% पर बरकरार रखना ताकि 2016-17तक प्रति व्यक्ति आय को दोगुना किया जा सके l

बारहवीं पंचवर्षीय योजना (2012-2017)  

  • वार्षिक विकास दर का लक्ष्य 8% ( योजना के एप्रोच पेपर में यह 9% का निर्धारित किया गया था, जिसे बाद में सितंबर, 2012 में घटाकर 8.2% किया गया, जिसे योजना आयोग की संस्तुति पर राष्ट्रिय विकास परिषद ने घटाकर 8% कर दिया ) l
  • कृषि क्षेत्र में 4% व विनिर्माण क्षेत्र में 10% की औसत वार्षिक वृध्दि के लक्ष्य l
  • योजना के अंत तक निर्धनता अनुपात से निचे की जनसंखा के प्रतिशत में पूर्व आकलन की तुलना में 10% बिन्दु की कमी लाने का लक्ष्य l
  • योजना के अंत तक देश में शिशु मृत्यु दर को 25 तथा मातृत्व दर को 1 प्रति हजार जीवित जन्म तक लाने तथा 0-6 वर्ष के आयु – वर्ग में बाल लिगानुपात को 950 करने का लक्ष्य l
  • बारहवीं पंचवर्षीय योजना के अंत तक सभी गाँँवों को बारहमासी सड़को से जोड़ना l
  • योजना के अंत तक सभी गाँँवों में विघुतीकरण l
प्रतियोगि परीक्षाओं के लिए जरुरी अधियन सामग्रीः
  1. धनकर सामान्य ज्ञान सार संग्रह 20000 से ज्यादा बहुविकल्पीय प्रश्न PDF Book Download Free
  2. Gk Tricky Vol.1 By Bikash Jaina Download in Hindi
  3. Quick Samanya Gyan 9000+Objective Question Answer in Hindi
  4. Lucent Vastunisth Samanya Gyan Pdf BookDownload
  5. Indian History Objective Questions Answer Pdf Free Download
  6. Indian History Explanatory Notes with 2000+ MCQs By Disha Publication
  7. Download Indian Art and Culture Pdf Book by Nitin Singhania
  8. Important Static GK PDF Notes for Bank Exams 2018
  9. भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध की सूचि
  10. Tricky Samanya Adhyayan Book Pdf Download Free

दोस्तों Daily Latest Paid eBook & Current Affairs, GK Notes, Couching Study Materials FREE Download करने के लिए हमेशा हमारी Website Daily Visit कीजिऐ और अपनी आने वाली Competitive Exams की तेयारी सरल तरीके से कीजिये। अपने दोस्तों को Whatsapp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को मुक्त में PAID PDF BOOK मिल पाए। धन्यवाद्।

Leave a Reply